राष्‍ट्र्रीय शिक्षुता प्रशिक्षण योजना (NATS)

शिक्षुता प्रशिक्षण/व्‍यावहारिक बोर्ड द्वारा स्‍थापित

मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

एनएटीएस क्यों?

संस्थान-एनएटीएस क्यों?

राष्ट्रीय प्रशिक्षुता प्रशिक्षण योजना शिक्षण संस्थानों की सहायता करती है ताकि वे अपने उत्तीर्ण छात्रों का नियोजन अग्रणी संस्थाओं में प्रशिक्षु प्रशिक्षण के लिये करवा सकें। केंद्र सरकार, राज्य सरकारें एवं निजी क्षेत्र की संस्थाएँ इस प्रशिक्षु प्रशिक्षण के लिये प्रत्याशियों का नियोजन करती हैं। इस योजना का लाभ उठाने की इच्छुक संस्थाओं को चाहिये कि वे अपना पंजीकरण एनएटीएस वेब पोर्टल पर करवाएँ। ज़िलों, ताल्लुकों आदि में स्थित संस्थानों को अपने उत्तीर्ण छात्रों को नियोजित करवाने में कठिनाई होती है क्योंकि वहाँ औद्योगिक समुच्चयों का अभाव होता है। यह योजना ऐसे संस्थानों की सहायता करती है ताकि वे अपने छात्रों की पहुँच वैसे बेहतर अवसरों तक बना सकें जो अब तक सिर्फ शहरी छात्रों को उपलब्ध हैं। प्रशिक्षुता प्रशिक्षण परिषदों/व्यावहारिक प्रशिक्षण परिषदों के साथ संबंधित होने पर संस्थानों को बाज़ार और उद्योग की तात्कालिक आवश्यकताओं का पता चलता है जिससे कि वे वर्तमान परिदृश्य के अनुरूप अपने पाठ्यक्रमों और प्रशिक्षण कार्यक्रमों का निर्माण कर सकें.

संस्थानों को होने वाले लाभों में से कुछ निम्नलिखित हैं

  • अपने छात्रों से संबंधित सूचना को अपलोड करें
  • उद्योगों के साथ संवाद बनाए रहें
  • नियोजन संबंधी युक्तियाँ बताएँ

National Apprenticeship Training Scheme (NATS) portal provides a platform for various stakeholders like Students, Establishments and Institutions to leverage the Apprenticeship training programme.

सामग्री व्यावहारिक प्रशिक्षण के शिक्षुता प्रशिक्षण / बोर्ड के बोर्डों द्वारा प्रदान की

Copyright © 2018 NATS. All Rights Reserved.